हिन्दी व्याकरण – वाच्य

By | 19/01/2016

वाच्य किसे कहते हैं ?

वाच्य का शाब्दिक अर्थ है- बोलने का विषय ।

 

क्रिया के जिस रूप से यह जाना जाए कि क्रिया द्वारा किए गए विधान का विषय कर्ता है, कर्म है या भाव है उसे वाच्य कहते है ।

वाच्य के तीन प्रकार हैं-

1.  कर्तृवाच्य

2.  कर्मवाच्य

3.  भाववाच्य

विस्तार से-

कर्तृवाच्य क्रिया के जिस रूप से वाक्य के उद्देश्य (क्रिया के कर्ता) का बोध हो, वह कर्तृवाच्य कहलाता है । इसमें लिंग एवं वचन प्रायः कर्ता के अनुसार होते हैं ।

जैसे-  बच्चा खेलता है ।
इन वाक्य में बच्चा,  घोड़ा  कर्ता हैं तथा वाक्यों में कर्ता की ही प्रधानता है ।

अतः खेलता है,  भागता है  ये कर्तृवाच्य हैं ।
कर्मवाच्य क्रिया के जिस रूप से वाक्य का उद्देश्य  कर्म  प्रधान हो, उसे कर्मवाच्य कहते हैं ।

जैसे-
भारत-पाक युद्ध में सहस्रों सैनिक मारे गए ।
छात्रों द्वारा नाटक प्रस्तुत किया जा रहा है ।
पुस्तक मेरे द्वारा पढ़ी गई ।

बच्चों के द्वारा निबंध पढ़े गए ।
इन वाक्यों में क्रियाओं में कर्म  की प्रधानता दर्शायी गई है । उनकी रूप-रचना भी कर्म के लिंग,  वचन और पुरुष के अनुसार हुई है । क्रिया के ऐसे रूप कर्मवाच्य  कहलाते हैं ।
भाववाच्य क्रिया के जिस रूप से वाक्य का उद्देश्य केवल भाव (क्रिया का अर्थ) ही जाना जाए वहाँ भाववाच्य होता है ।

इसमें कर्ता या कर्म की प्रधानता नहीं होती है । इसमें क्रिया सदैव पुल्लिंग, अन्य पुरुष के एक वचन की होती है ।

वाच्य परिवर्तन

कर्तृवाच्य से कर्मवाच्य बनाना

 

कर्तृवाच्य कर्मवाच्य

 

अध्यापक विद्यालय में पढ़ाते हैं अध्यापकों द्वारा विद्यालय में पढ़ाई होती है ।
वह दिन में फल खाता है उससे दिन में फल खाए जाते हैं ।
सिपाही ने चोर को पकड़ा सिपाही द्वारा चोर पकड़ा गया ।
वह हमें मुर्ख समझता है उसके द्वारा हमें मुर्ख समझा जाता है ।
तुम फूल तोड़ोगे तुम्हारे द्वारा फूल तोड़े जाएंगे

 

कर्तृवाच्य से भाववाच्य बनाना

 

कर्तृवाच्य भाववाच्य

 

बच्चे नहीं दौड़ते। बच्चों से दौड़ा नहीं जाता।
पक्षी नहीं उड़ते। पक्षियों से उड़ा नहीं जाता।
बच्चा नहीं सोया। बच्चे से सोया नहीं जाता।
अब चलें अब चला जाए ।

 

कर्मवाच्य से कर्तृवाच्य बनाना

 

कर्मवाच्य कर्तृवाच्य

 

नानी द्वारा कहानी सुनाई जाती थी नानी कहानी सुनाती थी ।
आज हमें व्याकरण पढ़ाया गया आज हमने व्याकरण पढ़ा ।
पुलिस द्वारा कल रात कई चोर पकड़े गए पुलिस ने कल रात कई चोरों को पकड़ा ।
बच्चों द्वारा रंग डाला गया बच्चों ने रंग डाला ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *